कृष्णा, के नाम पत्र 

कृष्णा, आपके लिए पत्र लिखा है, पढ़ ज़रूर लेना हे कृष्ण वैसे तो मुझे उसी तरह इस बात का पूर्ण विश्वास है कि आप पूर्णतः ठीक होंगे जिस तरह मुझे आपके अस्तित्व पर, महादेव की कृपा पर और अपनी माँ के मातृत्व पर हमेशा विश्वास रहता है मगर फिर भी औपचारिक्ता निभाना भी तो कोई…

मुझे यकीन था वो आयेगा

#मुझे_यकीन_था_वो_आयेगा (रक्षबंधन स्पैश्ल कहानी) *******************************************************  मेरी ये कहानी मेरी उन सभी बहनों को समर्पित है जो फेसबुक से जुड़ कर मेरे दिल में अपनी जगह और सम्मान बना गयीं  ******************************************************* “सारा दिन घर के काम करो और फिर इन लोगों की बातें भी सुनों । अपना सामान खुद नहीं संभालना होता और जब गुम हो…

पहली तस्वीर

​#पहली_तस्वीर  मेरी हज़ार ज़रूरते हैं, हज़ारों इच्छाएं हैं जिनको पूरा करने के प्रयास में ज़िंदगी कतरा कतरा हो कर हर दम बहती चली जा रही हैं मगर इन सब के बाद भी मेरी एक इच्छा जो सबसे ऊपर है । मैं ये भी जानता हूँ कि यह कभी पूरी नहीं हो सकती मगर फिर भी…

​बिहार यात्रा, थकान और भगवान  बिहार आना हो तो आपको सबसे पहले टिकट की मारा मारी के लिए कमर कसनी पड़ती है । कभी कभी तो सोचता हूँ कि शायद बिहार से लोग शायद डेली अॅप डाऊन करते होंगे दूसरे राज्यों में इसीलिए जब भी टिकट खोजो तो टिकट चार्ट रिग्रेट फील करने लगता है…

माँ बनना मुश्किल नहीं माँ हो जाना मुश्किल है 😊

​#मदर्स_डे_स्पैश्ल  माँ बनना मुश्किल नहीं माँ हो जाना मुश्किल है 😊 माँ कोई ख़ास नही हैं । आम ही हैं ये जो आम सी उछलती कूदती शोर मचाती या शांत चुप चाप तितलियों को निहारती बच्चियाँ या लड़कियाँ आपके आस पास हैं इन्हीं की तरह वो भी आम सी ही हैं । उनका रोज़ सुबह…

​#घर_वाकई_स्वर्ग_है

शाम होने के बाद घर से बाहर मत जाना । बाज़ार का कुछ अलूल जलूल मत खाना । किसी से झगड़ा किया तो मार मार के टाँगें तोड़ दूंगा । फिल्म देखेगा हाँ बिगड़ा हुआ बनेगा, घर में टी वी पर देखो सिनेमा हाॅल में कभी भी नहीं । इतनी बंदिशें थीं घर में कि…

​तुम मेरा अभिमान हो (छोटी सी प्रेम वार्ता)

“रवि आप पागल हो गए हो क्या ? यार ये कितना महंगा हार है और मुझे तो इन सब का शौख भी नहीं । पहले ही आपने इतना कुछ दिया है कि अलमारियां भरी पड़ी हैं और अब ये एक नई सौगात ।” रति ने ख़ुशी में डूबी हुई नाराज़गी दिखाई जिसका अंदाज़ा उसे देख…

इश्क से भरा पार्सल (प्रेम कहानी)

इश्क से भरा पार्सल (प्रेम कहानी)   “अरे वैलेनटाईन आने वाला है ना ?” हिमानी ने फोन के इस तरफ़ से चहकते हुए कहा ।   “हम्म्म्म्म आने तो वाला है ।” सुचित भी उदास सा हो कर बोला ।   “ऐसे सड़ू बन कर जवाब क्यों दे रहे हो ।”   “खुशी की कोई…

#बसंत_बच्चपन_पंजाब

  बसंत आने वाले है अब बस दो महीने ही बाकी हैं तो अब से हाॅफ टाईम में पाँच रुपए में मिलने वाली समोसे छोले की प्लेट बंद आलतू फालतू के सारे खर्च बंद बस एक एक पैसा जोड़ना है । पापा तो फिर से ये कह कर कम पैसे देंगे कि ज़्यादा क्या करोगे…

ज़ालिम त्योहार…

. ” रे मनोहरा ! बिहान हो गईल आ तू ससुर अभीओ ले सुतल हऊ | आई तिला सकराँत बा जौले ले नहैबे न तौले ले अन्न के एगो दाना मुँह में न सटी | ” रामपदारथ अपना बेटबा पर खिसिया रहा है | दतुअन रगड़ते आ कुल्ला गुलगुलाके हुये गरिया रहा है सुईठा को…

प्यारे गुमशुदा बच्चपन लोहड़ी मुबारक को

    पंजाब से हैं हम…लोहड़ी का नाम सुनते मुह में अपने आप से ही मूंगफली रेबड़ी और गच्चक का स्वाद अपने आप घुल जाता है । लोहड़ी को आते ही यादा आ जाता है वो बेफिक्रा सा बच्चपन, जब बच्चे “सुन्दर मुंदरिये होए, तेरा कौन बचारा होए, दुल्ला भट्टी वाला होए\, दुल्ले दी धी…

इंतज़ार, उम्मीद, और विश्वास समेटे वो आठ साल (सच्ची कहानी)  

  कुछ प्रेम कहानियों को शब्दों या किसी की कल्पना की ज़रुरत नहीं होती, वो खुद में एक गाथा होती है और ये कहानियां उन जंगली फूलों की तरह हैं जिन्हें सोच समझ कर सुन्दर बगिया में नहीं लगाया जाता यह किसी भी परिवेश किसी भी हालत किसी भी जगह बिना सोचे समझे अपने आप…