किलर बाबू की सिंगलिया कथा

on

​#किलर_बाबू_की_सिंगलिया_कथा 
(संडे का फंडे स्पैश्ल)
*******************************************

फेसबुक हो या आपके आस पास का माहौल अपने हाल पर विलाप करने वाले सिंगलिया लौंडे भारी मात्रा में मिल जाएंगे । ķìĺĺèr bőý (हाँ वही जिन्हे काॅकरेज देख कर दिल का दौरा पड़ने लगता है ) इसी सिंगलिया समाज का हिस्सा थे । असल में पिता जी ने नाम रखा था जीवन कुमार लेकिन फेसबुक तक आते आते यह जीवन लेने वाले किलर बन गए । 
किसी प्रेमी जोड़े को देख कर दिल की जलन का गुर्दों तक पहुंच जाना, खट्टे डकार के साथ कटु वचनों का बाहर आना, शक्ल पर कब्ज के रोगी सी पीड़ा यह सब किलर बाबू की विशेषताएं थीं । इन्हें अपने सिंगल होने का उतना ही कोफ़्त था जितना लौंगियाँ मिर्चाई को मिर्च होने के बावजूद भी शिमला वाली मिर्च जितना पाॅपुलेरिटी ना मिल पाने का होता है । मगर लौंगिया मिर्चाई को कौन समझाए कि ससुर तुम बस आग लगाना जानते हो, एक कच्चा काटे नहीं कि शरीर के हर छेद से धुआं अपने निकलने का रास्ता खोजने लगता है । दूसरी तरफ शिमला वाली मिर्च को देखो कितना ज़ायका समेटे है खुद में इसीलिए तो चिल्ली चिकन हो या चिल्ली पनीर साथ उसे शिमला वाली मिर्च का ही भाता है । 
खैर जो है सो तो हईए है इसलिए मुद्दे की बात कर लें । अब किलर बाबू का विलाप प्रभु की योग साधना में विघ्न बन रहा था । प्रभु बड़े चिंतित थे यह सोच कर कि कैसे इस अशांत आत्मा को तृप्त किया जाए । इसके सड़ू और जलन भरे स्वभाव के कारण कोई भी कन्या इससे प्रेम तो करेगी नहीं और इसे प्रेम नहीं हुआ तो ये इतना हो हल्ला करेगा कि प्रेम पर ग्रहण लगा देगा । फिर प्रभु ने एक समाधान निकाला और यह कार्यभार उन जवानों को सौंपा जो फोन के नए नए चलन के समय कन्याओं की आवाज़ निकाल कर लौंडों से सौ पचास का रीचार्ज करा लिया करते थे । 
इन जवान जवानियों ने प्रभु के इस आदेश पर अपना वचन दिया कि अब फेसबुक समाज पर कोई सिंगलिया नहीं रोएगा साथ ही साथ किलर बाबू का भी उद्धार होगा और फिर यह वचन ही बन गया फेसबुक पर एक तिहाई साशन । बस फिर क्या था फेसबुक पर सिंगलियों का विलाप मिटा कर हर तरफ खुशी की लहर दौड़ाने के लक्ष्य से अवतार लिया ऐंजल फलानी से डैडस् प्रिंसेस जैसी महान हस्तियों ने । और उन्हीं में से एक अवतार ने किलर बाबू के “जब दिल ही टूट गया फिर जी के क्या करें” सरीख उदास जीवन में “तुम से बना मेरा जीवन सुंदर सपन सलोना” जैसा रोमांटिक और खुशहाल बना दिया । अब किलर बाबू और उन जैसे सिंगलिए खुश थे क्योंकि मन ही मन वो खुद को कमेटेड मानने लगे थे । किलर बाबू छप्पन रुपए की रे बैन लगा कर गुटखा खा खा कर धंस चुके गालों को डिंपलने की भारी भूल के साथ मुस्कुराने वाली सेल्फी पोस्ट करने लगे । ऐंजलस के “सो नाईस” के कमेंट से मन में लड्डू की जगह बालूशाही का बालू झरने लगा । दो साल तक कोई फोटो नहीं मांग पाए ये सोच कर कि जानू का फीलिंग हर्ट हो जाएगा ।
फिर एंजल फलानी ने किलर बाबू का मन भांपते हुए खुद ही उन्हें तस्वीर (कैटरीना की विदाऊट मेकअॅप फोटू) भेज दी । उधर किलर बाबू तस्वीर पा कर वैसे ही उछल पड़े जैसे भाजपा की जीत पर अच्छे दिनों की प्रबल आस लिए कैद में संड़ रहा देश का विकास उछला था । बीतते दिनों के साथ साथ किलर बाबू किलर से कब किल्लू बन गए पता ही नहीं चला । रात रात भर रोमांटिक चैटिंग होने लगी । ये बात अलग है कि इस चैटिंग और उसके दौरान आने वाले सुखद ख़यालों का सीधा असर किलर बाबू की जन्म से कमज़ोर सेहत पर पड़ा । मगर ये किलर बाबू वाला इश्क था साहब, इसमें जान और बहजाने वाले माल की उन्हें कोई परवाह नहीं थी ।
किलर बाबू के सर पर इस चेटिंग वाले प्रेम का ऐसा भूत चढ़ा कि वो तो इशारे इशारे में पिता जी को समझा भी दिए कि अब आपको अपने जीवन कुमार के लिए कन्या तलाशने की कोई ज़रूरत नहीं क्योंकि जीवन कुमार ने अपनी जीवनसंगीनी चुन ली है । लंबे समय तक रोमांटिक चैटिंग का सुख भोगने, दिलचीर शायरियां लिखने और रोज़ रोज़ रीचार्ज कराने का दौर चलता रहा । मगर नियती को तो कुछ और मंज़ूर था । किलर बाबू की खुशी किस्मत से देखी ना गई इसी लिए देखते ही देखते किस्मत ने केजरी सर से भी तेज़ पल्टी मारी और एक दिन किलर बाबू के पिता ने किलर बाबू को लतिया कर शादी के लिए राजी कर लिया । किलर बाबू जो अब सिर्फ जीवन बाबू हो कर रह गए थे ने साॅरी फील करते हुए एंजल फलानी से विदा ली और मन दुःख के साथ यह सोच कर संतुष्ट भी हो लिए कि चलो शादी से पहले सिंगल रहने का कलंक तो मिट गया ना । भगवान एंजलस फलानी को सुखी रखे । 
उधर शादी में किलर बाबू के लंगोटिया यार बालेसर उर्फ कूल डूड बाबू भी आए थे । उन्होंने अपने अंदर दो पेग नेपाली दारू का उड़ेल कर, मुर्गा डांस करने के बाद हौले से किलर बाबू के पास जा कर कान में बोले “किल्लू बेबी तुम बहुत भाईल्ड वाले रोमांटिक हो ।मगर एक बात ध्यान रहे, ऊ रसरी से बांधने वाला पोज भाभी के साथ मत करना । देहात की हैं ना डर जाएंगी ।” ऐतना कह कर कूल डूड बाबू हंसते हंसते लोट पोट होने लगे, सबको लगा ये यार की शादी की खुशी है जिसमें कूल डूड बाबू नागिन डांस की अपार सफलता के बाद नागिन डांस पार्ट टू पेश कर रहे हैं । मगर इधर किलर बाबू का दिमाग चकरा गया ये सोच कर कि ये गुप्त बातें तो सिर्फ एंजलस फलानी के साथ साझा किए थे, मने कूल डूड ही…… । पर्दे के पीछे से आवाज़ आई “नहीं नहीं नहीं, ऐसा नहीं हो सकता ।” और इसी के साथ किलर बाबू का विश्वास हमेशा के लिए फेसबुक की आभासी दुनिया से उठ गया । इतना ही नहीं किलर बाबू जो अब जीवन कुमार थे के डर का ये आलम था कि एक महीना उन्हें यह यकीन करनेएं लगा कि जिससे शादी किए हैं ऊ लड़की ही है ।

********************************************
कहानी का ज्ञान – तो मेरे प्यारे सिंगलिया भाईयों, होल थिंग इज दैट कि आप भी बच कर रहिएगा । कहीं आपका कोई कूल डूड बाबू जैसा मित्र आपको किलर कुमार ना बना दे ।
इसीलिए हर आई डी को देख लार ना टपकाएं । 

बिना पूछे हुल्ल से इनबाॅक्स में ना घुस जाएं 😆😃 
धीरज झा

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s